505 10 10 74 बीबीसी हिन्दी, सुनिए मोबाइल पर
इस बहस को सहेज कर रख लिया गया है – जवाब देने की अनुमति नहीं है

पदोन्नति में आरक्षण सही या गलत?

केंद्रीय कैबिनेट ने सरकारी नौकरियों में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों को पदोन्नति में आरक्षण के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.
इस मुद्दे पर सोमवार को राज्यसभा में मतदान होने की संभावना है जिसके बाद लोकसभा में इस पर बहस होगी. सुप्रीम कोर्ट भी अपने एक फैसले में उत्तर प्रदेश की सरकारी नौकरियों में दलित वर्ग के लिए पदोन्नति में आरक्षण और वरिष्ठता के नियम को ग़ैरकानूनी करार दिया था.
इस मुद्दे पर राजनीतिक पार्टियों की राय अलग-अलग है.सपा इसके विरोध में है तो बसपा के फैसले के पक्ष में.
लेकिन क्या पदोन्नति में आरक्षण देना जायज है.

लिखिए अपनी राय.

प्रकाशित: 12/15/12 2:35 AM GMT

टिप्पणियाँ

टिप्पणियों की संख्या:24

सभी टिप्पणियाँ जैसे जैसे वो आती रहती हैं

Added: 12/15/12 12:22 PM GMT

और हाँ, आँकड़ों के आधार पर खुद को योग्य ना कहें, और यदि आँकड़े सही कहते हैं तो किसी भी संस्था में ईमानदारी से देंखे कि इस सोशल स्ट्रॅटा में जो जितना प्रिमिटिव है वो आपको अपने काम के प्रति उतना ही ईमानदार मिलेगा. और आँकड़े ही बताते हैं के चंद लोग किस तरह इस देश के महत्वपूर्ण पदों पर क़ाबिज़ हैं. आखिर ऐसा क्यूँ है कि तथाकथित अयोग्य लोग मेहनत करने पर भी किसी भी एशेलन के निचले पायदानों पर ही हैं. क्या ये जातिवाद नही है? अब ये ना कहें कि अयोग्य लोग मेहनत नही करते.

Saptarshi Jamshedpur

Added: 12/15/12 12:22 PM GMT

पदोन्नति में आरक्षण किसी के खिलाफ नही है. ह उनके लिए है जिनके साथ भेदभाव होता है. भारत मे जाति-आधारित भेदभाव होता है. यह एक कड़वी सच्चाई है.

Anandआ Delhi

Added: 12/15/12 12:13 PM GMT

यहाँ लोग कह रहे हैं कि योग्य व्यक्ति का मनोबल गिरेगा. अगर वाकई में अभी सरकारी दफ़्तरों में योग्य व्यक्ति बैठे हैं तो वहाँ कामकाज ठीक से क्यों नही होता? वहाँ भ्रष्टाचार और अकर्मण्यता क्यों हावी है? दरअसल ये एक खाई है जिसे पाटना ज़रूरी है. ये एक अहंकार है कि वे योग्य हैं और बाकी अयोग्य. इन्ही सब कारणों से शायद कभी-कभी मुझे लगता है कि भारत सबसे ज़्यादा जातिवादी देश है.

saptarshi Jamshedpur

Added: 12/15/12 12:09 PM GMT

आरक्षण 100 प्रतिशत कर देना चाहिए ताकि अनारक्षित दर्जे वालों को भविष्य के लिए नए तरीके मिल सें और उनके कीमती साल बरबाद ना होने पाए.

MAHENDRA SINGH JODHOUR

Added: 12/15/12 11:45 AM GMT

ये बिल्कुल गलत है. जाति और धर्म के आधार पर आरक्षण अन्याय है, उन करोड़ों ब्राह्मणों के लिए जो गरीब हैं. केवल ब्राम्हण ही नहीं उनके लिए भी जिनके लिए ये आरक्षण है क्योंकि नौकरी भी उन्हीं लोगों को मिलती है जो मायावती, मुलायम, लालू, रामविलास या इस प्रकार के नेताओं के करीबी है. जिनको वास्तव में आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए उनके बच्चे तो स्कूल का मुँह तक नही देख पाते. जय हिन्द जय भारत.

Durga Nand Jha Bihar भारत

Added: 12/15/12 10:51 AM GMT

मुझे लगता है कि ये मात्र राजनीति है. अगर सरकार सही में विकास चाहती है तो उसे बच्चों के विकास और शिक्षा पर ध्यान देना चाहिए. इस कदम से वो जाति, वर्ग के आधार पर भेदभाव को खत्म करने के बजाए उसे बढ़ा रहे हैं. मुझे लगता है कि हर बच्चे को शिक्षा और आत्म-सम्मान से जीने का अधिकार है. सरकार को समाज में असमानताओं को खत्म करने पर ध्यान देना चाहिए. पदोन्नति काबिलियत के आधार पर दी जानी चाहिए ना कि जाति के आधार पर.

Vijay laxmi Gorakhpur

Added: 12/15/12 10:35 AM GMT

एक वक्त ये सामाजिक-आर्थिक विषय था, लेकिन अब इसे राजनीतिक मामला बना दिया गया है.

Navinchandra Dave Vadodara-Gujarat

Added: 12/15/12 10:33 AM GMT

ये सही नहीं है.

Omprakash Godara Nakodesar Bikaner

Added: 12/15/12 10:15 AM GMT

ये गलत है. भारत में हम जात-पात से बाहर नहीं निकल पाएंगे. आजादी के 70 सालों में भी हम कुछ नहीं सीख पाए हैं.

shiv kumar bishnoi Bilochawala, Pilibanga भारत

Added: 12/15/12 9:52 AM GMT

सरकारी नौकरी में आरक्षण देने से कितने को फायदा मिला है यह गाँव में आकर महसूस किया जा सकता है जहाँ आज भी 90 फीसदी अनुसूचित जाति के बच्चे स्कूल नहीं जाते. ऐसे में राजनीतिक दल सिर्फ वोट के लिए मुद्दा बनाते हैं. इनका अनुसूचित जाति के लोगों के विकास से कोई मतलब नहीं है. पदोन्नति में आरक्षण देने से सरकारी कार्यालयों में कार्य की गुणवत्ता प्रभावित होगी.

NARAYAN MISHRA TEKARI (GAYA)

Added: 12/15/12 9:24 AM GMT

मैं एक सरकारी कर्मचारी हूँ और मैने इस सेक्टर में परीक्षाओं के दौरान आरक्षण का सामना किया है. मेरे विचार में सरकार ने मेरा चुनाव इमानदारी के साथ किया है. अगर मुझसे किसी जूनियर व्यक्ति को पदोन्नति दी जाती है तो मुझे निराशा होगी औऱ मैं भारत से बाहर जाने की ओर आकर्षित होउँगा. इस कदम से योग्य व्यक्तियों का पलायन होगा.

Apratim Mukherjee Dehradun

Added: 12/15/12 9:13 AM GMT

आरक्षण पर आरक्षण. इसका क्या मतलब है. क्या ऊँची जातियों ने कोई पाप किया है? क्या सरकार प्रधानमंत्री के पद को भी आरक्षित कर देगी?

dayashankar singh dhanbad

Added: 12/15/12 8:41 AM GMT

आज भारत में समाज बंटा ही है, समाज को पहले बराबर करो फिर कहना होगा कि समाज बंटना नहीं चाहिए. जो लोग इसका विरोध कर रहे हैं उन्होंने कभी ये देखा है कि आरक्षण को इतना वक्त हो गया है फिर भी आज समाज जहाँ का वहीं खड़ा है. आखिर क्यों?

sanjay dehradun

Added: 12/15/12 8:34 AM GMT

नहीं. कभी नहीं.

Anil GKP

Added: 12/15/12 7:41 AM GMT

पदोन्नति में आरक्षण बहुत गलत है. इससे योग्य व्यक्ति और व्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा.

jitendra jnu new delhi

बीबीसी को जानिए

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.