505 10 10 74 बीबीसी हिन्दी, सुनिए मोबाइल पर
इस बहस को सहेज कर रख लिया गया है – जवाब देने की अनुमति नहीं है

क्या बलात्कारियों को फांसी हो?

दिल्ली में चलती बस में एक लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार के बाद लोगों में भारी रोष है. ये मुद्दा संसद में भी उठा जिसके बाद गृहमंत्री को बयान देना पड़ा.

सासंदों के एक वर्ग ने बलात्कारियों को फांसी देने की मांग की है. आंकड़े कहते हैं कि दूसरे शहरों के मुकाबले दिल्ली में सबसे ज्यादा बलात्कार की घटनाएँ होती हैं.

क्या ये कानून की कमजोरी है या फिर आपकी और हमारी? आप इस बारे में क्या सोचते हैं?

प्रकाशित: 12/18/12 2:49 PM GMT

टिप्पणियाँ

टिप्पणियों की संख्या:72

सभी टिप्पणियाँ जैसे जैसे वो आती रहती हैं

Added: 12/22/12 4:58 PM GMT

बलात्कार का मतलब सिर्फ उस लड़की के साथ घटित उस घटना से ही क्यों लिया जाता है. जबकि उस लड़की को तो ता उम्र सब झेलना पड़ता है मानसिक रूप से भी और शारीरिक रूप से भी. तो दोषी की सजा भी कुछ ऐसी होनी चाहिए जिससे समाज में कोई भी ऐसी घिनौनी हरकत करने की सोचे भी तो उसकी रूह काँप जाए. फांसी तो बहुत आसान मौत होगी.

priyanka lucknow

Added: 12/22/12 4:53 PM GMT

दिल्ली में जो काय़राना हरकत हुई उससे सारा देश सदमें में हैं. ऐसे बुजदिल कायरों को मौत की सजा कम से कम मिलनी ही चाहिए. ऐसी घटनाएं दिन- प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं जो भारतीय संस्कृति के गिरते स्तर तथा सरकार की अकर्मण्यता की ओर इशारा कर रही हैं.

HIRALAL JYANI MALSISAR, BHADRA, RAJASTHAN

Added: 12/22/12 5:01 AM GMT

जो संवेदना बलात्कार को मानवता के प्रति जघन्य कृत्य कहती है वह यह भी कहती है कि आज तक बलात्कारी को फाँसी न देना अपने आप बलात्कार की जघन्य विकृति ही है.

शिवकानत

Added: 12/22/12 3:17 AM GMT

ये काफ़ी गंभीर मुद्दा है सरकार को कुछ कड़े क़दम उठाने चाहिए ताकि इस तरह की घटनाएं कम हों. उन्हें फांसी से कम कुछ भी नहीं मिलनी चाहिए.

satya qatar

Added: 12/22/12 3:16 AM GMT

ये काफ़ी गंभीर मुद्दा है सरकार को कुछ कड़े क़दम उठाने चाहिए ताकि इस तरह की घटनाएं कम हों. उन्हें फांसी से कम कुछ भी नहीं मिलनी चाहिए.

satya qatar

Added: 12/22/12 3:04 AM GMT

बलात्कारियों को फ़ौरन फांसी देनी चाहिए. सऊदी अरब को देखिए वहां कभी किसी लड़की का बलात्कार नहीं होता है क्योंकि वहां फ़ौरन फ़ैसला होता है और सरेआम फांसी दी जाती है !

Abhilash Gupta Nagpur

Added: 12/21/12 9:06 PM GMT

जो हुआ है वो मानव नही कर सकता और हैवानों को मारना गुनाह नही होता. कम से कम इस मामले मे तो बिलकुल नहीं. मौत की सजा भी कम लगती है जहां लडकियों को देवी का रूप माना जाता वो समाज ऐसे राक्षशौ को कय़ो न फासी दें

SUDHIR KUMAR RAJAK DELHI

Added: 12/21/12 6:22 PM GMT

क्या उस लड़के को एहसास है कि उस लड़की को कितना दर्द झेलना पड़ा. या फिर किसी आम आदमी को ये एहसास है. बलात्कारी को ऐसी दर्दनाक सजा दी जाए कि वो रोए कि हमें मौत की सजा क्यों नहीं दी गई.

Deshant Kumar Bhimtal(Nainital)

Added: 12/21/12 5:42 PM GMT

जी हां, बिल्कुल ऐसे लोगों को इस तरह की ही कठोर सजा मिलनी चाहीए. इसके बाद फिर कोई ऐसा काम करने की हिम्मत नहीं करेगा.

Savita Branford

Added: 12/21/12 5:34 PM GMT

जिस तरह संसद की महिला सदस्यों ने इस घटना पर अपना रौद्र रूप दिखाया इसके लिए वो बधाई की पात्र हैं. गृह मंत्रालय को नोटिस जारी कर पूरे देश से आंकड़े मंगाने चाहिए कि बलात्कार और तेजाब फेंकने की घटनाओं में कितने अभियुक्तों को सजा हुई. दिल्ली बलात्कार कांड के अभियुक्तों को फांसी की सजा देकर एक नई शुरुआत की जा सकती है.

pramodkumar muzaffrpur

Added: 12/21/12 4:50 PM GMT

अब समय आ गया है कि हमारे देश में भी अरब देशों जैसे मजबूत कानून आने चाहिए.

amir vadodara

Added: 12/21/12 4:15 PM GMT

फांसी से कम हुई तो अपराधियों के मन में खौफ पैदा ही नहीं होगा. इसलिए फांसी होनी ही चाहिए.

SACHHIDANAND MAURYA GORAKHPUR

Added: 12/21/12 11:59 AM GMT

बलात्कारियो को फांसी पर चढाने से समस्या का हल नहीं है, देशमे कानून एवं व्यवस्था की स्थिति अति गंभीर होती जा रही है। हमें पुलिस को सशक्त बनाना होगा, पुलिस को नेताओं व उनके चमचों ने इतना डरा के रखा हुवा है की वह बेचारे बगैर नम्बर प्लेट की गाड़ी को रोकने की हिम्मत भी नहीं करते।

अनिल बर्वे भोपाल

Added: 12/21/12 11:35 AM GMT

ऐसी घिनौने हरकतों को रोकने के लिए बलात्कारियों को फांसी देना हीं एक मात्र उपाय है. देश मे बढते बलात्कार की घटना का अंदाज़ा आप दिल्ली मे दर्ज की गई बलात्कार मामले से लगा सकतें हैं जो गत वर्ष 572 थी और इस साल अब तक 635 बलात्कार मामले दर्ज की जा चुकी है. भारत की सभी अदालत मे लम्बित बलात्कार के मामले को एक महीने के अंदर जांच करके दोषी को फांसी की सजा दी जाए. नए कानून बनाए जाएँ की अगर ऐसी घटना पुनः हो तो दोषी को 7 दिनों मे फांसी दिए जाएँ . इससे बालात्कार को रोका जा सकता है.

Arun Kumar Abhinav Muzaffarpur भारत

Added: 12/21/12 10:29 AM GMT

ब्लात्कारियोँ को कङी से कङी सजा देनी चाहिये ताकि एसा कदम दोबारा न उठाये।

Ramesh Khajuwala

बीबीसी को जानिए

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.